होमगार्ड्स को अब पहनेंगे खाकी एफ एस कैप, कमांडेट जनरल होमगार्ड केवल खुराना ने दिये निर्देश





नवीन चौहान.
उत्तराखंड शासन द्वारा होमगार्ड स्वयंसेवकों के लिए खाकी बैरेट कैप के स्थान पर एफएस(फील्ड सर्विस) कैप धारण किए जाने हेतु शासनादेश जारी किया गया था। होमगार्ड विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के जनपदीय भ्रमण, निरीक्षण एवं सैनिक सम्मेलनो के दौरान यह संज्ञान में आया कि खाकी एफ एस कैप लागू होने के उपरांत भी कतिपय होमगार्ड्स खाकी बैरेट कैप धारण कर रहे हैं, एवं मुख्यालय द्वारा दिए गए एफ एस कैप के स्थान पर स्थानीय बाजार से क्रय की गई एफ एस कैप धारण कर रहे हैं। जिससे सभी होमगार्ड स्वयंसेवकों में वर्दी के टर्न आउट में एकरूपता प्रदर्शित नहीं हो रही है। यातायात में योजित होमगार्ड स्वयंसेवकों को मेरून एफ एस कैप धारण करते हैं।

इस संबंध में सम्यक विचारोपरांत कमांडेंट जनरल होमगार्ड केवल खुराना द्वारा निर्देशित किया गया कि सभी होमगार्ड स्वयंसेवकों को खाकी एफएस कैप ही उपलब्ध कराई जाएगी एवं यातायात में आयोजित होमगार्ड भी खाकी एफ एस कैप ही धारण करेंगे। इसके अतिरिक्त यह भी निर्देशित किया गया कि वर्तमान में एक एफ एस कैप देने की निर्धारित सीमा 1 वर्ष रखी गई है, जिसे अब परिवर्तित कर सालभर में खाकी दो एफ एस कैप होमगार्ड स्वयंसेवकों को दी जाएगी।

निश्चित संख्या में कुछ एफ एस कैप जनपद कार्यालय में भी आवंटित की जाएगी यदि होमगार्ड 2 एफ एस कैप से अधिक की आवश्यकता हो तो वे जनपद कार्यालय से भुगतान के आधार पर खरीद सकेंगे। डीजी होमगार्ड केवल खुराना द्वारा बताया गया कि होमगार्ड स्वयंसेवकों के विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रशिक्षण केंद्रों पर आयोजित किए जाएंगे। होमगार्ड स्वयंसेवकों की मानसिक समस्याओं के दृष्टिगत पहल ऐप के माध्यम से काउंसलिंग कराई जा रही है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *