हरिद्वार पुलिस ने किया महिला के ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा




न्यूज 127.
हरिद्वार पुलिस ने महिला की हत्या का खुलासा करते हुए उसके लिवइन पार्टनर को गिरफ्तार किया है। एसएसपी के निर्देश पर हरिद्वार पुलिस खुद इस हत्याकांड की वादी बनी थी। एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल की लीडरशिप क्वालिटी को आमजन द्वारा फिर सराहा गया है।

पुलिस के मुताबिक 16.05.2024 को मनसा देवी मंदिर पैदल मार्ग से आगे हिल बाई पास की तरफ एक अज्ञात महिला का शव नीचे खाई में गिरे होने की सूचना पर कोतवाली सिटी पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से महिला के शव को खाई से बाहर निकाला। चैक करने पर मृतका के हाथ-पैर व मूहं पर खंरोच के निशान तथा नाक पर खून लगा हुआ था। मौजूदा तथ्यों के आधार पर स्पष्ट हो रहा था कि किसी अज्ञात द्वारा मृतका की हत्या कर शव को खाई में धकेला गया है।

महिला के शव कि पहचान हेतु विभिन्न स्तर पर किए गए प्रयासों के बीच प्रकाश में आए एक मोबाइल नम्बर से पूछताछ करने पर महिला की पहचान पूजा मिश्रा पुत्री विजय मिश्रा निवासी धनसिया मधुबनी बिहार के रुप में हुई। मोबाइल नंबर स्वामी ने स्वयं को मृतका का पति बताते हुए जानकारी दी कि उसकी पत्नी पूजा 02 वर्ष पूर्व घर से भाग गयी थी।

जिला अस्पताल से प्राप्त मृतका की पोर्स्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण गला दबाना आया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलते ही एसएसपी प्रमेन्द्र सिंह डोबाल के निर्देश पर पुलिस ने स्वयं वादी बनते हुए सिटी कोतवाली हरिद्वार में अज्ञात हत्यारोपी के खिलाफ मु0अ0सं0- 373/2024 धारा-302 भादवि पंजीकृत किया गया।

महिला को न्याय दिलाने के लिए हत्यारोपी की जल्द तलाश हेतु एसएसपी हरिद्वार द्वारा दिए गए निर्देश पर गठित पुलिस टीमों ने मनसा देवी को आने जाने वाले सीसीटीवी कैमरों को गहनता से अवलोकन किया गया तो दिनांक 15.05.2024 को मृतका के साथ एक पुरूष, महिला व एक बच्चा दिखाई दिया लेकिन वापसी के समय उक्त संदिग्ध पुरूष, महिला तथा बच्चे के साथ मृतका मौजूद नही थी। हाथी पुल के पास चाय की दुकान के मालिक द्वारा उक्त संदिग्ध के गुगल/फोन से भुगतान करने की जानकारी देते हुए यूपीआई आई0डी0 उपलब्ध करायी गई।

प्राप्त सुराग बेहद महत्वपूर्ण थे। पुलिस टीम ने अब तक जुटाई गई जानकारी के आधार पर संदिग्धों की तलाश जारी रखते मुखबिर की मदद से दोनों संदिग्ध को खडखडी के पास से दबोचा। संदिग्ध दंपत्ति रोशन कुमार कामत व महक कुमारी से पूछताछ में जानकारी मिली कि मृतका की शादी बिहार निवासी मोनू कुमार से हुयी थी लेकिन 02 साल पहले वो वहां से भागकर हरियाणा आ गयी और रोशन के साथ लिवइन में रहने लगी। कुछ समय बाद रोशन की शादी किसी अन्य युवती (महक) से हो गयी। शुरुआत में गांव में रही रही महक जब अपने पति के साथ रहने हरियाणा आयी तो अवैध संबंधों की जानकारी होने पर महक द्वारा एतराज जताया गया। अलग रहने को कहने पर अक्सर रोशन और पूजा के बीच झगडे होने लगे।

इस बीच जब उक्त तीनों बच्चे सहित घुमने हरिद्वार आये और मनसा देवी दर्शन के लिए गए तो एक बार फिर रोशन और पूजा के बीच झगडा होता देख महक बच्चे के साथ पास ही सो गई। इस बीच रोशन ने गला दबा कर पूजा की हत्या कर दी और शव को नीचे खाई मे फेंक दिया। बगल में ही बच्चे के साथ सो रही महक ने उठने के बाद जब पूजा के बारे में पूछा तो रोशन ने उसे पूरा वाक्या बता दिया। इसके बाद पुलिस कार्यवाही के डर से दोनों बच्चे के साथ वापस गुरूग्राम भाग गए। आज दंपत्ति ये जानने हरिद्वार पहुंची थी कि पूजा जिंदा है या मर चुकी है।

विवेचना के दौरान एक महत्वपूर्ण जानकारी ये भी मिली है कि उक्त दंपत्ति द्वारा साथ में दिख रहे 06 माह के बच्चे (आर्यन) को दिनांक 18/05/2024 को हरियाणा मानेसर के कार्सन टेंपल में लावारिस हालात में छोड़ दिया। उक्त संबंध में इनके खिलाफ थाना सेक्टर 7 आईएमसी गुडगाँव हरियाणा में मु0अ0सं0 169/24 धारा 169 I.P.C. दर्ज किया गया है।

पुलिस टीम कोतवाली नगर-
1- SHO कुंदन सिंह राणा
2- S.S.I. सतेन्द्र बुटोला
3- S.I. संजीत कण्डारी (चौकी प्रभारी खडखडी)
4- S.I. अनिता शर्मा
5- S.I. निशा शर्मा
6- Ad.S.I. दीपक ध्यानी
7- H.C. सतेन्द्र
8- C. निर्मल
9- C. सतीश
10- C. सुनील
11- C. भारती

C.I.U. टीम हरिद्वार-
1- Insp. एश्वर्यपाल सिंह (प्रभारी सीआईयू)
2- C. वसीम

सीसीटीवी कैमरा फुटेज टीम-
1- का0 अतुल



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *