पतंजली में काम करने वाली महिला ने 1 लाख का लालच देकर कराया बच्चे का अपहरण




Listen to this article

नवीन चौहान.
हरिद्वार पुलिस ने 72 घंटों के भीतर छह वर्षीय बच्चे के अपहरण का खुलासा करते हुए न केवल बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया बल्कि अपहरण के आरोप में महिला समेत तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अभियुक्तों में से 2 सिडकुल की एक फैक्ट्री में काम करते हैं जबकि महिला पतंजली में नौकरी करती है।

पुलिस के मुताबिक 09 सितंबर की शाम शिवम बिहार कालोनी रोशनाबाद सिडकुल से गायब हुए 06 वर्षीय बच्चे के अपहरण में शामिल हर किरदार को जनता के सामने और कानून के दायरे में लाकर हरिद्वार पुलिस ने अपहृत बच्चे को सकुशल बरामद करने में कामयाबी हासिल की।

बच्चे के गायब होने पर बच्चे के पिता सुभाष प्रजापति द्वारा दिनांक 10-9-2023 को थाना सिडकुल पर दी गई शिकायत पर नाबालिक के अपहरण के सम्बन्ध में मु0अं0सं0-494/2023 धारा -363 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। एसएसपी हरिद्वार अजय सिंह द्वारा प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर बच्चे को सुरक्षित बरामद करने के लिए अलग-अलग पुलिस टीमें गठित की गई थी।

गठित की गई अलग अलग टीमों द्वारा परिजनों से गुमशुदा बच्चे के हुलिये की जानकारी लेकर घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरो का अवलोकन किया तथा संदिग्धों से पूछताछ की गई तो अपहृता बच्चा एक संदिग्ध आदमी के पीछे-पीछे पैदल पैदल टैम्पो स्टैण्ड की ओर जाते हुये दिखाई दिया था।

क्षेत्र में कई लोगों से पूछताछ करने पर संदिग्ध की पहचान शिवमविहार कालोनी रोशनाबाद निवासी रविन्द्र के रूप मे हुई। तलाश करने पर रविन्द्र के साथ एक व्यक्ति जनक के मौजूद मिलने पर पुलिस टीम ने दोनो से सख्ती से पूछताछ की तो अपहरण के सारे राज खुल गए।

पुरानी मकान मालकिन ने अभियुक्त रविन्द्र को एक लाख रूपये का ऑफर देते हुए छोटे बच्चे की मांग की थी। प्रस्ताव सुन लालच में आकर रविन्द्र ने वर्तमान निवास की बिल्डिंग में रह रहे परिवार जिनके 04 लडके थे में से 01 बच्चे का अपहरण करने का प्लॉन बनाते हुए अपने साथी अभियुक्त जनक को भी शामिल कर लिया। पहले से तैयार प्लान के मुताबिक जनक सिंह ने बच्चे को चाकलेट, बिस्किट खिलाकर अपने भरोसे में ले लिया।

दिनांक 09-09-2023 को अभियुक्त जनक ने बच्चे को चाउमीन खिलाने का लालच देकर अपने पीछे आने को कहा और मौका मिलते ही रविन्द्र के हवाले कर दिया जहां से रविन्द्र बच्चे को ई-रिक्शा में बिठाकर अभियुक्ता शगुन को बेच दिया और 30 हजार की धनराशी प्राप्त की और शेष धनराशी 4-5 दिन बाद देना बताया था।

पुलिस टीम ने अभियुक्तों के कब्जे से 20 हजार की धनराशी भी बरामद करते हुए आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की गई। अपहृत बच्चे के परिजनों एवं क्षेत्रवासियों द्वारा हरिद्वार पुलिस की त्वरित कार्यवाही कर बच्चे को सकुशल बरामद करने की प्रशंसा कर पुलिस टीम का आभार प्रकट किया गया।

नाम पता अभियुक्त-
1-रविन्द्र पुत्र ब्रहम सिह निवासी ग्राम बामनौली थाना दोघाट जनपद बागपत हाल निवासी शिवम विहार कालोनी रोशनाबाद हरिद्वार
2-जनक सिह पुत्र राजबीर सिह निवासी ग्राम नगवा थाना बुडाना जनपद मु0नगर हाल निवासी शिवम बिहार कालोनी रोशनाबाद थाना सिडकुल हरिद्वार
3-शगुन पत्नी संजीव निवासी मेरठ उत्तर प्रदेश हाल वोल ग्रीन सिटी निकट अशोक वाटिका थाना सिडकुल हरिद्वार।

पुलिस टीम-
1- थानाध्यक्ष सिडकुल नरेश सिंह राठौड़
2- व0उ0नि0 सुधाशु कौशिक
3- उ0नि0 देवेन्द्र सिह चौहान
4- का0 मनीष
5- का0 गजेन्द्र प्रसाद
6- का0-दीपक दानू
7- म0का0 रीना



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *