डॉक्टर बनकर मरीजों की सेवा करना चाहती है अदित्री शर्मा, पापा ने सेल्फी लेकर दी बधाई





काजल राजपूत की रिपोर्ट
परीक्षा के रिजल्ट में प्रतिशत कोई मायने नही रखता। अंकतालिका में उच्च स्कोर किसी बच्चे की योग्यता का आधार नही होता है। योग्य बच्चों का ध्यान अपने केंद्र अर्थात लक्ष्य पर होता है। जिंदगी के लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने वाले बच्चों की जिंदगी में सिर्फ पढ़ाई करने का जिदद और जुनून होता है। जिसके लिए वह मन लगाकर चुनौतीपूर्ण एक्जाम की तैयारी करते है। ऐसे ही नीट एक्जाम की तैयारी में जुटी डीपीएस रानीपुर की अदित्री शर्मा ने सीबीएसई की परीक्षा में 96 फीसदी अंक लाकर स्कूल का नाम गौरवांवित किया है। अदित्री के पापा डॉ सुशील शर्मा ने सेल्फी लेकर बेटी को बधाई दी और भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।


डॉ सुशील शर्मा हरिद्वार के प्रसिद्ध न्यू देवभूमि हॉस्पिटल के चेयरमैन है। वह करीब दो दशक से रानीपुर मोड़ स्थित हॉस्पिटल में मरीजों की सेवा रहे है। जबकि उनकी बेटी अदित्री शर्मा डीपीएस रानीपुर में 10वीं की छात्रा रही। सीबीएसई की ओर से जारी रिजल्ट में अदित्री ने 96 फीसदी अंक हासिल किए। अदित्री ने बताया कि वह नीट एक्जाम की तैयारियों में जुटी है। वह डॉक्टर बनकर पापा के सपनों को पूरा करना चाहती है। अदित्री ने बताया कि घर में बचपन से ही मरीजों की सेवा करने का वातावरण देखा। हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल पर घर है। कई बार पापा से मिलने आती थी तो मरीजों को देखकर दिल में दर्द उठता है। अलग—अलग तरह की बीमारियां जन्म ले रही है। जबकि चिकित्सा के क्षेत्र में डॉक्टरों की कमी महसूस की जाती है। अदित्री ने बताया कि उसका पूरा फोकस नीट के एक्जाम पर किया है। 10वीं की परीक्षा में अपेक्षा के अनुरूप परिणाम नही आया है। लेकिन पापा ने सेल्फी लेकर मेरा मनोबल बढ़ाया है। वह बहुत खुश है पापा के सपनों को जरूर पूरा करूंगी। मन लगाकर पढ़ाई करूंगी। डीपीएस के प्रधानाचार्य अनुपम जग्गा ने अदित्री को बधाई दी है।न्यूज127 भी अदित्री को डॉक्टर बनने की शुभकामनाएं देता है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *