MURDER यशवंत हत्याकांड का खुलासा: दो सगे भाईयों समेत तीन लोगों ने पैंसों के लेनदेन के चलते की हत्या




Listen to this article


काजल राजपूत
यशवंत हत्याकांड का उधमसिंह नगर पुलिस ने खुलासा कर दिया है। दो सगे भाईयों ने अपने दोस्त के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। हत्या की वजह करीब 50 हजार का लेनदेन का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस टीम ने हत्याकांड में प्रयुक्त चाकू और कार को बरामद कर लिया है।
घटनाक्रम के मुताबिक 24 अगस्त 2023 को थाना पन्तनगर संजय वन में किसी व्यक्ति का शव पड़ा होने की सूचना पुलिस को मिली। पुलिस टीम तत्काल सूचनास्थल पर पहुंची। पंत नगर पुलिस ने शव को बरामद कर पंचायतनामा की कार्यवाही पूरी की।
एसएसपी मंजूनाथ टीसी के निर्देशों पर पुलिस टीम ने तत्काल मृतक की शिनाख्त कराई। मृतक के भाई ने मृतक का नाम यशवन्त गौड़ पुत्र हरक सिंह निवासी ग्राम सतबूंगा थाना मुक्तेश्वर बताया। मृतक के भाई की तहरीर के आधार पर FIR NO- 161- 2023 धारा 302, 201 भादवी बनाम गौरव सिंह आदि पंजीकृत किया गया।
एसएसपी मंजूनाथ टीसी के निर्देशों पर पुलिस टीम आरोपी गौरव की तलाश में जुट गई। मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने अभियुक्त 1. गौरव सिंह पुत्र स्व0 हिम्मत सिंह विष्ट निवासी ग्राम व पोस्ट भटेलिया थाना मुक्तेश्वर, जनपद नैनीताल, 2 संजय बिष्ट उर्फ संजू पुत्र स्व हिम्मत सिंह बिष्ट निवासी ग्राम व पोस्ट भटेलिया थाना मुक्तेश्वर, जनपद नैनीताल, 3. मुदित हर्ष गौड़ पुत्र प्रकाश गौड़ निवासी सदबूंगा, थाना मुक्तेश्वर जिला नैनीताल उम्र 25 वर्ष को हत्या में प्रयुक्त स्विफ्ट कार के साथ दिनांक 29/8/2023 को टाण्डा जंगल से गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ में अभियुक्त गौरव सिंह बिष्ट ने बताया कि मृतक यशवन्त गौड़ ने मेरे 50 हजार रुपये देने थे, युसू उर्फ यशवन्त गौड़ मुझे गालियां देता था। मेरे दिल को यह बात चुभ गयी। गुस्से में आकर मैने उसकी छाती में चाकू घुसेड दिया। घुसू उर्फ यशवन्त गौड़ के शव को हम लोगे ने टांडा बैरियर चौकी से करीब आधा किलो मीटर नीचे आकर सड़क किनारे फेक दिया। अभियुक्त की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल चाकू और कपडे बरामद किये जा चुके है।
बरामदगी
(1) घटना में प्रयुक्त बिना नम्बर प्लेट स्विफ्ट कार
(2) एक अदद आला कत्ल चाकू



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *